Email subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

मेरे प्यार से मिला दे मेरे रब।

सकारात्मकता अपनाओ और फैलाओ।।

जीवन की धार जो
यूँही बहती जा रही है।।
समय का पहिया भी
नहीं थमता नज़र आ रहा है।।
कल भी मैं प्यासा था
आज भी मैं प्यासा ही हूँ।।
कल भी मैं भूखा था
आज भी मैं भूखा ही हूँ।।
उम्र बदल गई है
पर दिल से
अभी भी बच्चा हूँ।।
बहुत लोग संग आए
कुछ दूर साथ निभाए।।
फिर धीरे धीरे
हमारा साथ
सभी छोड़
कहीं गुम गएँ।।
उनमें से कुछ लोग
हमारे जहन में समाए।।
जिनकी अच्छाई और सादगी ने
हमारे दिल में घर बसाए।।
आज भी उनकी याद आते ही
रक्त का संचार तेज़ हो जाए।।
उनकी सकरात्मक ऊर्जा से
हमारी आयु में वृद्धि हो जाए।।
छोटी सी आयु है
छोटा सा जीवन है
क्यों ना सकारात्मकता अपनाकर
स्वयं को दीर्घायु बनाए।।
सभी के लिए अच्छा सोचे
सभी को साथ लेकर चलें।।
छोटी सी दुनिया है
क्यों ना खुशियों के रंग से
सभी के जीवन को रंग दे।।

मैं हिन्दू नहीं।

मैं हिन्दू नहीं। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। मैं हिन्दू नहीं ना मैं मुसलमान हूँ। मैं सिख नहीं ना मैं क...