Showing posts with label ये संसार कर्म प्रधान देश है।करनी कर।. Show all posts
Showing posts with label ये संसार कर्म प्रधान देश है।करनी कर।. Show all posts

24 Feb 2018

करनी कर।।

कोई भी इंसान अमर नहीं।
ना छोटा,ना कोई बड़ा नहीं।
कर्म का सब चक्र है भईए।
जीवन की पहिया थमा नहीं।
सब से अच्छा व्यवहार कर।
किसी को दुख ना हो,वैसा कार्य कर।
बहुत सुना है ऐसा सुविचार।
पर करनी और कथनी में है बड़ा दरार।
क्यों ना कुछ नया आगाज करें।
कथनी छोड़,करनी का प्रयास करें।
दुख को दुनिया से निजात करें।
खुशियों से सभी का दिल भरा रहे।
आने वाली नस्लें हमसे पूछा करें।
ये दुख क्या चीज है,जिससे कभी भेंट हुआ नहीं।

तेरे हक का है तो छीन लो।

Shayari तेरे हक का है तो छीन लो। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। अपने हक के लिए तुम्हें आवाज खुद उठाना होगा। आए...