Showing posts with label बस एक छोटा सा परिवार चाहिए।. Show all posts
Showing posts with label बस एक छोटा सा परिवार चाहिए।. Show all posts

13 Mar 2018

बस एक छोटा सा परिवार चाहिए। bus ek chhota sa pariwar chahie

Shayari


बस एक छोटा सा परिवार चाहिए। 


माँ बाबू जी का आशिर्वाद चाहिए।
बीवी और बच्चों का साथ चाहिए।
बस एक छोटा सा परिवार चाहिए।
सुबह की शुरूआत, माँ बाबू जी के आशिर्वाद से चाहिए।
फिर पूरे परिवार संग एक कप चाय चाहिए।
बस एक छोटा सा परिवार चाहिए।
जीवन में कुछ खट्ठे व मिठे पलों का एहसास चाहिए।
बस अपना एक छोटा सा परिवार चाहिए।






maan baabu ji kaa aashirvaad chaahia।

bivi aur bachchon kaa saath chaahia।

bas ek chhotaa saa parivaar chaahia।

subah ki shuruaat, maan baabu ji ke aashirvaad se chaahia।

phir pure parivaar sang ek kap chaay chaahia।

bas ek chhotaa saa parivaar chaahia।

jivan men kuchh khatthe v mithe palon kaa ehsaas chaahia।

bas apnaa ek chhotaa saa parivaar chaahia।


Written by sushil kumar

तू ही मेरी दुनिया है। tu hi meri duniya hai.

Tu hi meri duniya hai. Shayari तकलीफ मेरे हिस्से की तू मुझे ही सहने दे। आँसू मेरे बादल के तू मुझ पर ही बरसने दे। सारे मुसीबतों क...