Showing posts with label दो पल की जिंदगी में।।. Show all posts
Showing posts with label दो पल की जिंदगी में।।. Show all posts

22 Mar 2018

Do pal ki zindagi mein

Shayari


दो पल की जिंदगी में,

             दो पल की खुशी के लिए।।
ना जाने जहाँ तहाँ भटक रहे हैं हम।
कभी मंदिर के द्वार पर,
             तो कभी मस्जिद के दर पर।।
सर पटक पटक कर मन्नत माँग रहे हैं ।



do pal ki jindgi men,

             do pal ki khushi ke lia।।

naa jaane jahaan tahaan bhatak rahe hain ham।

kabhi mandir ke dvaar par,

             to kabhi masjid ke dar par।।

sar patak patak kar mannat maang rahe hain ।


Shayari written by sushil kumar

तू ही मेरी दुनिया है। tu hi meri duniya hai.

Tu hi meri duniya hai. Shayari तकलीफ मेरे हिस्से की तू मुझे ही सहने दे। आँसू मेरे बादल के तू मुझ पर ही बरसने दे। सारे मुसीबतों क...