Showing posts with label चुटकुला।।. Show all posts
Showing posts with label चुटकुला।।. Show all posts

10 Mar 2018

दोस्ती की इंतहा।।

दो जिगरी दोस्त थे।एक साथ स्कूल जाना,एक साथ कालेज जाना,एक साथ घूमने जाना।एक साथ शराब के अड्डे पर बैठना।फिर एक दोस्त की सगाई हुई,और फिर क्या दोस्तों के बीच दूरियां बढ़ने लगी।एक हमेशा फोन पर चिपका रहता, और दूसरा उसका इंतजार करता रहता।
दूसरे को लगा,कि अभी तो शादी होनी बाकि है,अभी ही उसे भूला दिया।फिर उसने बदला लेने के लिए,अपने घर पर शादी करने की फरमाइश कर डाली।माँ बाबू जी खुश।पर उसने एक शर्त रखी,कि सगाई और शादी एक ही दिन हो।लड़की की खोज जारी हुई,और एक लड़की पसंद आई।अगले महीने के दूसरे तारीख का दिन फिक्स किया गया शादी का दिन।कार्ड बना।उसने पहला कार्ड अपने दोस्त को देने पहुँचा।दोस्त बहुत खुश हुआ।शादी हुई और शादी के एक सप्ताह बाद ही दूसरा दोस्त पहले दोस्त के पास पहुँचा।
पहला दोस्त-क्या दोस्त हनीमून पर कहाँ जा रहे हो।
दूसरा दोस्त-अरे यार तेरी भाभी से उसी बात पर अनबन हो गया है।
पहला दोस्त- कैसे?
दूसरा दोस्त-वो बोलती है,शिमला जाएँगें, और मैं गोआ।
पहला दोस्त-अरे यार ये बात तो तू दिल में बाँध लो,कि बोस,बीबी और गर्लफ्रैंड हमेशा सही होते हैं,और हमेशा वही जीतते हैं।
दूसरा दोस्त ने भी हामी भर दी।।

हैंगओवर उतर ही नहीं रहा है।।😂

सास-बहू तुम्हारे गाल लाल कैसे होते जा रहें हैं ?? संजय तुम पर हाथ उठाता है क्या?
बहू-नहीं माँ जी,संजय और हम  रोज शाम में लाल शरबत पीते हैं ना!इसलिए।।
सास-चक्कर खाकर गिर गई।
बहू-अरे माँ जी क्या हुआ,चक्कर कैसे खा गई??
सास-अरे तेरे पापा ने सुबह सुबह हमे पीला शरबत पिला दिया था।हैंगओवर उतर ही नहीं रहा है।😉

तेरे हक का है तो छीन लो।

Shayari तेरे हक का है तो छीन लो। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। अपने हक के लिए तुम्हें आवाज खुद उठाना होगा। आए...