Showing posts with label खच्चर. Show all posts
Showing posts with label खच्चर. Show all posts

22 Oct 2017

खच्चर ,गधे और घोड़े की कहानी।

खच्चर किसी दुनिया पर राज कर रहे थे।गधो की संख्या वहाँ घोड़ों से  ज्यादा थी,इसलिए अगर खच्चरों को राज करना था,तो गधों को घोड़ों से ज्यादा सुविधा देना जरूरी था।वरना उनकी गद्दी छिनी जा सकती थी।गधों को सारी सुख सुविधा की व्यवस्था की गई थी।
    इनमें से कुछ गधो को खच्चरों की चाल समझ में आ गई थी। घोड़े तो हमेशा से अवाज उठाते आ ही रहे थें।अब जब इन्हें कुछ गधों का साथ मिल गया था,तो उनके आक्रोश में और भी तेजी आई थी।
   खच्चरों की गद्दी डोलने लगी थी।आखिरकार घोड़ों को भी गधों की बराबरी की सुख सुविधा प्रदान की गई।

तेरे हक का है तो छीन लो।

Shayari तेरे हक का है तो छीन लो। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। अपने हक के लिए तुम्हें आवाज खुद उठाना होगा। आए...