Showing posts with label अगे मईया।. Show all posts
Showing posts with label अगे मईया।. Show all posts

14 Oct 2017

अगे मईया।

पति-काहे जी,कहाँ से आ रहील बानी।
पत्नी-काहे...घूमे लगी भी तोहरा से पूछ के जावे पड़ी की।
पति-नाहीं,हमरा के ई सोच के टैन्सन रहिल,कि तोहरा पास पैसा आईल ता आईल कहाँ से।
पत्नी-इल्लो,कले राते तो तोहरा से दस हजार रूपया लेईल रहिल।
पति-का बोलत बानी,कले कब हम तोहरा के पैसा देईल बानी।
पत्नी-ये ला,कर ला बात,कले अपने तो शराब के नशे में बोलत रहिल,कि ये ला दस हजार रुपये और कर ला अपन दिल के शौक पूरी।
पति-अगे मईया,हम ता तोहरा के दस हजार, इकरे लगी देईल रहिल,कि तोहरा के बड़ी शौक रहिल कि तो भी के बनिल करोड़पति में जाईब और करोड़पति बन के आईब।
पत्नी-काहे के झूठ बोलत बानी।
पति-नन्दूआ,हमर ड्राइवर के पत्नी दुई लाख, के बनिल करोड़पति से जीत कर आईल बानी।जेकरा के बोलत नहीं आवत है,उई दुई लाख जीत करके आईल बानी।तू तो बोले में ईतता एक्सपर्ट है,के हमरा के चूप करा देवत है।तो कम से कम तू अगर गईले रहिल तो करोड़पति बनके अईले रहिल।

जितनी बार मैं तेरे करीब आया

Shayari जितनी बार मैं तेरे करीब आया kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। जितनी बार मैं तेरे करीब आया उतनी बार दिल म...