18 Nov 2019

Maa:-ek ishwariya aashirwad

Shayari

माँ:-एक ईश्वरीय आशीर्वाद।

kavitadilse.top द्वारा हर माँ को समर्पित है।

Maa
Maa





दुनिया के भागम भाग में
भले मैं कहीं से कहीं पहुँच जाऊँ।

आसमा के आँचल में
कहीं सितारा बन
सभी तारों के संग टिमटिमाऊँ।
Maa
Maa💗

या फिर किसी शायरों के महफ़िल में
तेरी बन्दगी में
दो नगमे सुना जाऊँ।

हार से निराश ना होकर
अपनी सफलता के लिए जी जान लगा डालूँ।
और अपनी जीत का सारा श्रेय
तेरे दिए हुए अनमोल संस्कार को दे जाऊँ।

शायद ही ऐसा कोई दिन
कोई पल होगा माँ
जब तुम मेरे साथ नहीं थी।

तुम्हारे दिए हुए संस्कार ही तो
आज बोल रहे हैं।

और रब से भी कुछ ज्यादा नहीं
बस तेरा साथ और आशीर्वाद ही तो
हर लम्हा माँगा है।

Maa
Maa😊






duniyaa ke bhaagam bhaag men

bhale main kahin se kahin pahunch jaaun।


aasmaa ke aanchal men

kahin sitaaraa ban

sabhi taaron ke sang timatimaaun।



Maa💗


yaa phir kisi shaayron ke mahfil men

teri bandgi men

do nagme sunaa jaaun।


haar se niraash naa hokar

apni saphaltaa ke lia ji jaan lagaa daalun।

aur apni jit kaa saaraa shrey

tere dia hua anmol sanskaar ko de jaaun।


shaayad hi aisaa koi din

koi pal hogaa maan

jab tum mere saath nahin thi।


tumhaare dia hua sanskaar hi to

aaj bol rahe hain।


aur rab se bhi kuchh jyaadaa nahin

bas teraa saath aur aashirvaad hi to

har lamhaa maangaa hai।



Written by sushil kumar
Shayari





No comments:

Meri khamoshi mein ek sandesh hai.

Shayari मेरी खामोशी में एक संदेश है। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। मेरी खामोशी देख तुम्हें तो आज बड़ा ही सुकून...