15 Mar 2019

Mere har sans mein

Shayari

मेरे हर साँस में

Kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है।

मेरे हर साँस में
कुछ नया एहसास है।
कुछ नए जज़्बात हैं
तो कुछ दिल में खास है।
हर दिन की तरह
आज की सुबह में भी
कुछ बात है।
कुछ नए अवसर
और नई राहें
प्रोत्साहन कर रहें हैं हमें
कि तू आगाज़ कर।
समय ने भी पुकार कर
आज यही कहा है हमसे
बीते बिगड़े बातों को भूल
हौसला रख,आगे बढ़।
नए चुनौतियों से
आँखे मिला
दो दो हाथ करने को
रहें हमेशा तैयार हम।








mere har saans men

kuchh nayaa ehsaas hai।

kuchh naye jjbaat hain

to kuchh dil men khaas hai।

har din ki tarah

aaj ki subah men bhi

kuchh baat hai।

kuchh naye avasar

aur nayi raahen

protsaahan kar rahen hain hamen

ki tu aagaaj kar।

samay ne bhi pukaar kar

aaj yahi kahaa hai hamse

bite bigde baaton ko bhul

hauslaa rakh,aage bdh।

naye chunautiyon se

aankhe milaa

do do haath karne ko

rahen hameshaa taiyaar ham।

written by Sushil Kumar @ kavitadilse.top

Shayari

No comments:

कोई जीते जी निर्वाणा कैसे पा सकता है???Koi jite ji nirvana kaise paa sakta hai??

मैं चलता हूँ बैठता हूँ बोलता हूँ सुनता हूँ सोता हूँ जागता हूँ पर माँ तुझे कभी नहीं भूलता हूँ। कुछ यादें आती जाती रहती हैं। कुछ ब...