29 Mar 2019

Hamare priya modi ji ki hi sarkar aa rahi hai.

Shayari

हमारे प्रिय मोदी जी की ही सरकार आ रही है।

Kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है।


Bharat

हम भारत देश में जन्म लिए।
हम भारत के हित की सोचेंगे।
हम स्वयं अपना कदम बढ़ाएंगे।
भारत को भी खींच उठाएँगे।
हम शांति दूत हैं इस विश्व के
पर हम कायर नहीं
जो विरोधियों के दबाव में,
अपने कदम पीछे हटाएँगे।
वो दौर कोई और था
ये दौर कोई और है।
पहले स्वयं के हित की सोच थी
आज देश के हित की सोच है।
पहले कायरता की खाई में गिरे थे हम सभी
पर आज हिमालय की वीरता के गोद में बैठे हैं हम।
Bharat,narendra modi

आज हमारी सोच में ललकार है
दुश्मनों के लिए।
तो बहुत सारा प्यार है वहीं
अपनो के लिए।
आज सारे देश में विकास की लहर है
गाँव - गाँव और शहर- शहर में
बिजली और सड़क है।
आज अपने सुनहरे देश की भविष्य
हमें उसकी छवि में नजर आ रही है।
आज हर दिल एक स्वर में
बस यही राग पुकार रही है।
इस बार फिर से
हमारे प्रिय मोदी की ही सरकार
आ रही है।
Bharat,narendra modi

जय हिंद।।
जय भारत।।












ham bhaarat desh men janm lia।

ham bhaarat ke hit ki sochenge।

ham svayan apnaa kadam bdhaaange।

bhaarat ko bhi khinch uthaaange।

ham shaanti dut hain es vishv ke

par ham kaayar nahin

jo virodhiyon ke dabaav men,

apne kadam pichhe hataaange।

vo daur koi aur thaa

ye daur koi aur hai।

pahle svayan ke hit ki soch thi

aaj desh ke hit ki soch hai।

pahle kaayartaa ki khaai men gire the ham sabhi

par aaj himaalay ki virtaa ke god men baithe hain ham।




aaj hamaari soch men lalkaar hai

dushmnon ke lia।

to bahut saaraa pyaar hai vahin

apno ke lia।

aaj saare desh men vikaas ki lahar hai

gaanv - gaanv aur shahar- shahar men

bijli aur sdak hai।

aaj apne sunahre desh ki bhavishy

hamen uski chhavi men najar aa rahi hai।

aaj har dil ek svar men

bas yahi raag pukaar rahi hai।

es baar phir se

hamaare priy modi ki hi sarkaar

aa rahi hai।




jay hind।।

jay bhaarat।।


Written by sushil kumar.

Shayari

No comments:

Badhali

Shayari ऐसी बदहाली आज दिल पे जो छाई है। मन  है बदहवास और आँखों में नमी आई है। हर वक्त बस ईश्वर से यही दुहाई है। खैर रखना उनकी, मेरी ...