Email subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

होली का त्योहार है

होली का त्योहार है

kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है।

होली का त्योहार है
रंग और गुलाल भरी खुशियोंं की बौ-छार है।

हर दिल में
आज वो बचपन का उमंग
पुनः जाग उठा है।

सारे मन के मैल
मानो आज इस पावन त्योहार पर धूल चुके हैं।

और हम सभी
जातिवाद, धर्मवाद और सभी विकारों से ऊपर उठ
पूरे जोश खरोश और उमंग के साथ
होली के रंग में
एक साथ
सतरंगी खुशियों के झरने में
भींगे जा रहे हैं।

और तो और
हमारे साथ सारी प्रकृति भी
इस त्योहार के प्रभाव से बच नहीं पाई हैं।
दिन ढलने को है और
सारे अम्बर की लालिमा
हमें ऐसा आभास करा रही है।
मानो धरती ने अम्बर को
लाल गुलाल से रंग दिया हो।
और ठीक वैसे ही
धरती की हरियाली देख
ऐसा आभास हो रहा है
जैसे अम्बर ने भी हरे रंग के गुलाल से
धरती को रंगने का मौका नहीं गंवाया है।

कितना मनोहर दृश्य है
मानो सारी प्रकृति आज खुशी में
झूम रही हो।


आज के इस शुभ पल के अवसर पर
मैं फिर से सारे दोस्त,सारे रिश्तेदार व सबसे महत्वपूर्ण मेरे फौजी भाइयों व बहनों को होली की ढेर सारी शुभकामनाएं दिल से देता हूँ।ईश्वर से यही प्रार्थना करता हूँ कि आप सभी लोगों की सारे मनोकामनाएं पूर्ण हो।।ईश्वर सदा आपका सही मार्गदर्शन करें।

धन्यवाद

।।जय हिंद।।

।।जय भारत।

और फिर से
होली की दिल से सभी भारतीयों को ढेर सारी शुभकामनाएं।

सुशील कुमार

।।एक नई क्रांति की ज़रूरत है भारत को।।
।।राष्ट्रवाद की क्रांति।।

सुशील कुमार
Holi

Holi

हैप्पी होली।।

Written by sushil kumar

No comments:

तेरी किस्मत तेरे हाथ में है।

तेरी किस्मत तेरे हाथ में है। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। मैं चला जा रहा था अकेले,झुंझलाते हुए खुद से। कभी खु...