Email subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

अफवाओं के बाजार में

अफवाओं के बाजार में

Kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है।

Afwaon ke bazar me,hindi shayari,hindi kavita

अफवाओं के बाजार में
गलतफहमी कभी भी ना पालें।
यहाँ तो आँखो देखा हाल भी
कभी कभी गलत साबित हो जाया करता है।।
Afwaon ke bazar me,hindi shayari,hindi kavita

लोगों को तो 
तिल का ताड़ करने में
बड़ा आनंद आता है।
पर सच्चाई के जड़ तक
पहुंचे बगैर
अगर आप कुछ भी कार्यवाही कर बैठे।
फिर आत्मग्लानि के पहाड़
के दबाव तले
आप जिंदगी पर दबे रह जाते हैं।
Afwaon ke bazar me,hindi shayari,hindi kavita

हमेशा खुद पर
और केवल खुद पर ही 
विश्वास किया करो।
क्योंकि लोग अपने हैं
और अफवाहें पराये।।
Afwaon ke bazar me,hindi shayari,hindi kavita


अफवाओं के बाजार में 
written by Sushil Kumar @ kavitadilse.top
https://www.hindimehelp.com/online-internet-se-paise-kaise-kamaye-hindi/#comment-137387

No comments:

मैं हिन्दू नहीं।

मैं हिन्दू नहीं। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। मैं हिन्दू नहीं ना मैं मुसलमान हूँ। मैं सिख नहीं ना मैं क...