Email subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

आज हमारा मन बहुत उचाट पड़ा है

आज हमारा मन बहुत उचाट पड़ा है
कहीं घूम कर आएँ हम।।
कोई नई फिल्म आई क्या थिएटर में
जरा समाचार पत्र को पलटाए हम।।
संजू कैसी फिल्म है
जरा आलोचकों को पढ़ जाएँ हम।।
अच्छी आलोचना मिली है इसको
तो चलो फिल्म देखकर आएँ हम।।
पहुँचे थिएटर खरीदें टिकट
साथ में आलू चिप्स और एक ठंडा भी लिए।।
ट्रेलर खत्म हुआ,फिल्म शुरु हुई
रनवीर कपूर की एन्ट्री आई जो।।
पूरा ठिएटर सीटीयों से गूँज गया
क्या खूब संजू की नकल निकाली वो।।
कब शुरू और कब समाप्त हो गई
समय का पता नहीं चल पाया था।।
पूरी फिल्म में एहसास हुआ यों
खुद संजय दत्त ने अभिनय निभाया था।।
मन जो उचाट था सुबह में
सकारात्मक उर्जा से अब भर आया था।।

No comments:

वतना मेरे वतना वे।

वतना मेरे वतना वे kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। वतना मेरे वतना वे तेरा इश्क़ मेरे सर चढ़ चढ़कर बोल रहा है। एक जन्...