10 Dec 2019

Shadi ke din

Shayari


शादी के दिन पत्नी हमारी होट दिखती है।।

बाद में वही हमारे जीवन पर बोझ लगती है।।
दूसरे की बीबी हमेशा हमें खास लगती है।।
क्योंकि वो हमेशा हमारे साथ नहीं रहती है।।
दूसरे के नलायक बच्चे भी हमें समझदार दिखते हैं।।
अपने होनहार बच्चे हमें निखट्टू ही नजर आते हैं।।
साल भर हम पढ़ाई छोड़ खेलते कूदते हैं।।
इम्तिहान के समय क्रीड़ा छोड़ हम बड़े अध्ययनकर्ता बन जाते हैं।।




shaadi ke din patni hamaari hot dikhti hai।।

baad men vahi hamaare jivan par bojh lagti hai।।

dusre ki bibi hameshaa hamen khaas lagti hai।।

kyonki vo hameshaa hamaare saath nahin rahti hai।।

dusre ke nalaayak bachche bhi hamen samajhdaar dikhte hain।।

apne honhaar bachche hamen nikhattu hi najar aate hain।।

saal bhar ham pdhaai chhod khelte kudte hain।।

emtihaan ke samay kridaa chhod ham bde adhyayanakartaa ban jaate hain।।



Written by sushil kumar

No comments:

कोई जीते जी निर्वाणा कैसे पा सकता है???Koi jite ji nirvana kaise paa sakta hai??

मैं चलता हूँ बैठता हूँ बोलता हूँ सुनता हूँ सोता हूँ जागता हूँ पर माँ तुझे कभी नहीं भूलता हूँ। कुछ यादें आती जाती रहती हैं। कुछ ब...