14 Aug 2018

Bhartiya hone par hamen garv hai

Shayari

Bhartiya hone par hamen garv hai



हमारी संस्कृति का विश्व धरातल पर उच्चतम स्थान है।
अतिथि देवो भवः और वसुधैव कुटुम्बकम पर
हमें सदा अभिमान है।।
अनेकता में एकता के लिए
हम विश्व विख्यात हैं।
मुस्लिम फटाखे फोड़ते हैं दीवाली में
और हिन्दू ईद मुबारक कहते हैं ईद में।
'अहिंसा परमो धर्म' के भाव वाले
ऐसे राष्ट्र में जन्म लेना
हमारा सौभाग्य है।।
स्वयं में सम्पूर्ण को समेटे हमारी संस्कृति महान है।।
हमारी संस्कृति महान है।।
जय हिंद।।
जय भारत।।




hamaari sanskriati kaa vishv dharaatal par uchchatam sthaan hai।

atithi devo bhavah aur vasudhaiv kutumbakam par

hamen sadaa abhimaan hai।।

anektaa men ektaa ke lia

ham vishv vikhyaat hain।

muslim phataakhe phodte hain divaali men

aur hindu id mubaarak kahte hain id men।

'ahinsaa parmo dharm' ke bhaav vaale

aise raashtr men janm lenaa

hamaaraa saubhaagy hai।।

svayan men sampurn ko samete hamaari sanskriati mahaan hai।।

hamaari sanskriati mahaan hai।।

jay hind।।

jay bhaarat।।


Written by sushil kumar

No comments:

तू ही मेरी दुनिया है। tu hi meri duniya hai.

Tu hi meri duniya hai. Shayari तकलीफ मेरे हिस्से की तू मुझे ही सहने दे। आँसू मेरे बादल के तू मुझ पर ही बरसने दे। सारे मुसीबतों क...