8 Aug 2018

Main janma tera ansh lekar

Shayari




मैं जन्मा तेरा अंश लेकर

             संस्कार दिए थे तूने भर भर।।
बड़ों को आदर और छोटों से प्यार
              किसी का दिल दुखे नहीं सूत।।
मधुर वाणी और मृदुल स्वभाव से
              जीत लो तुम सारा संसार।।
सिकंदर ने जीता था जग
              उठाकर भाला और तलवार।।
तन जीता पर मन नहीं जीता
               करके जग पर अत्याचार।।
सबका भला,सबका विकास
                ऐसा रखना तुम मन में विश्वास।।
सभी दिलों की धड़कन बनकर
                 करना तुम हर दिल पर राज।।
       




   main janmaa teraa ansh lekar

             sanskaar dia the tune bhar bhar।।

bdon ko aadar aur chhoton se pyaar

              kisi kaa dil dukhe nahin sut।।

madhur vaani aur mriadul svbhaav se

              jit lo tum saaraa sansaar।।

sikandar ne jitaa thaa jag

              uthaakar bhaalaa aur talvaar।।

tan jitaa par man nahin jitaa

               karke jag par atyaachaar।।

sabkaa bhalaa,sabkaa vikaas

                aisaa rakhnaa tum man men vishvaas।।

sabhi dilon ki dhdakan banakar

                 karnaa tum har dil par raaj।।

                           


Written by sushil kumar                 

No comments:

Badhali

Shayari ऐसी बदहाली आज दिल पे जो छाई है। मन  है बदहवास और आँखों में नमी आई है। हर वक्त बस ईश्वर से यही दुहाई है। खैर रखना उनकी, मेरी ...