Email subscription

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

हमारे पहरेदार तैनात हैं।।

धूप हो
बरसात हो
दिन हो या रात हो
देश की रक्षा के लिए
हमारे पहरेदार तैनात हैं।।

हिमालय सा दृढ़विश्वास लेकर।
हाथ में हथियार लेकर।
दुश्मनों से दो दो हाथ
करने के लिए
हमारे सैनिक तैयार हैं।।

हमारी आज़ादी सलामत रहे।
देश की अखंडता बरकरार रहे।।
देश हमारा प्रगति करे।
लोग यहाँ खुशहाल रहें।।
हमारी खैरियत के वास्ते
फौज बहा रहीं हैं खून वहाँ।।

देश की सेवा करते करते
कुछ सैनिक शहिद हो जाते हैं।
उनके पार्थिव शरीर तिरंगे में
लिपटकर घर पर जब आते हैं।।
सारा गाँव
सारा देश
देशभक्ति से ओतप्रोत हो जाता है।
हर घर से माँ
अपने बच्चे को
देश के लिए तैयार करती है।।
सरहद की रक्षा के लिए
देश को अपना पूत समर्पित करती है।।

जय हिंद
जय भारत
जय जवान
जय किसान
जय विज्ञान








No comments:

मैं हिन्दू नहीं।

मैं हिन्दू नहीं। kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। मैं हिन्दू नहीं ना मैं मुसलमान हूँ। मैं सिख नहीं ना मैं क...