16 Aug 2018

हम तुम

हम तुम
तुम हम
कितने खुश रहते हैं।
जब हम एक साथ होते हैं।।
समय का पहिया
थम सा जाता है।
प्यार का नगमा
दिल गाता है।
एक पल में
कई सदियों की खुशी
सहेज कर
रखने का मन करता है।।
तुम्हारी हँसी, तुम्हारी खुशी
तुम्हारी नजाकत भरी अदाएँ।
कितना मनोहर लगता है
मन को।
जैसे सूने आसमान को मिल गया हो
सतरंगी इंद्रधनुष का साथ।।

No comments:

जितनी बार मैं तेरे करीब आया

Shayari जितनी बार मैं तेरे करीब आया kavitadilse.top द्वारा आप सभी पाठकों को समर्पित है। जितनी बार मैं तेरे करीब आया उतनी बार दिल म...