19 Aug 2018

Rag rag hamara kare pukar


Shayari


रग रग हमारा करे पुकार।

भारत माता की हो जय जयकार।।
रक्त के कतरा कतरा का यही दरकार।
हर बून्द से तेरी वजूद का रखेंगे ख्याल।।
जब कभी तेरी स्वाभिमान पर उठेंगें सवाल।
तेरी गरिमा के लिए
हम दे देंगे अपनी जान।।
देश भक्ति की भावना से
सींचेंगे हम अपना जहाँ।
सभी राष्ट्रों में अब्बल होगा
हमारा प्यार हिंदुस्तान।।

वन्दे मातरम
जय किसान
जय विज्ञान
जय जवान



rag rag hamaaraa kare pukaar।

bhaarat maataa ki ho jay jaykaar।।

rakt ke katraa katraa kaa yahi darkaar।

har bund se teri vajud kaa rakhenge khyaal।।

jab kabhi teri svaabhimaan par uthengen savaal।

teri garimaa ke lia

ham de denge apni jaan।।

desh bhakti ki bhaavnaa se

sinchenge ham apnaa jahaan।

sabhi raashtron men abbal hogaa

hamaaraa pyaar hindustaan।।


vande maataram

jay kisaan

jay vijyaan

jay javaan


Written by sushil kumar


No comments:

अभिमान है मुझे:abhimaan hai mujhe

अभिमान है मुझे। Shayari मेरे भारत देश के मिट्टी की  बात बड़ी ही निराली है। यहाँ जन्म लेने वाले हर शख्स के खून में छिपी हुई एक...