10 Dec 2019

Badhali

Shayari


ऐसी बदहाली आज दिल पे जो छाई है।

मन  है बदहवास और आँखों में नमी आई है।
हर वक्त बस ईश्वर से यही दुहाई है।
खैर रखना उनकी, मेरी जान उनमे समाई है।



aisi badhaali aaj dil pe jo chhaai hai।

man  hai badahvaas aur aankhon men nami aai hai।

har vakt bas ishvar se yahi duhaai hai।

khair rakhnaa unki, meri jaan unme samaai hai।


Written by sushil kumar

Tere na milne se

Shayari


तेरे ना मिलने से,मेरा दिल है इतना बेकरार।

जो तू मिले तो,मैं हो जाऊँ फनाह बार बार।।
तेरे एक झलक पाने को करता रहता हूँ इंतजार।
जो तूझे पालूँ,तो पालूँगा सारा आज संसार।।



tere naa milne se,meraa dil hai etnaa bekraar।

jo tu mile to,main ho jaaun phanaah baar baar।।


Written by sushil kumar
tere ek jhalak paane ko kartaa rahtaa hun entjaar।

jo tujhe paalun,to paalungaa saaraa aaj sansaar।।



Mere pyar ko badnam na kar.

Shayari


मेरे प्यार को बदनाम ना कर।

मेरे विश्वास को ताड़ ताड़ ना कर।
किया है मोहब्बत तुझसे दिलोजान से।
दिल तोड़ इस आशिक की जान ना ले।


mere pyaar ko badnaam naa kar।

mere vishvaas ko taad taad naa kar।

kiyaa hai mohabbat tujhse dilojaan se।

dil tod es aashik ki jaan naa le।

Written by sushil kumar

Hamare soch mein aapki soch mil jae.

Shayari


हमारे सोच में आपकी सोच मिल जाए।।

हमारे विचार में आपका विचार मिल जाए।।
ये जहान और समय कहीं थम ना जाए।।
जो हमदोनों के धड़कन एक हो जाएँ।।






hamaare soch men aapki soch mil jaaa।।

hamaare vichaar men aapkaa vichaar mil jaaa।।

ye jahaan aur samay kahin tham naa jaaa।।

jo hamdonon ke dhdakan ek ho jaaan।।

Written by sushil kumar

Sahi kaam karna gunah ho gaya.

Shayari


सही काम करना गुनाह हो गया।।

गलत काम करने वालो का राज हो गया।।
पैसा बोलता है,पैसा तोलता है।।
जो ना रंगे उसके रंग में,उसे जमीन में गड़ना है।।
सच्चाई के राह पर चलना दुस्वार हो गया।।
बुराई के राह पर चलने वालो की जयजयकार हो गया।।
कलयुगी रावण ने संसार में हाहाकार मचा दिया।।
भगवान राम के प्रकट होने का समय निकट आ गया।।
सही काम करना गुनाह हो गया।।
गलत काम करने वालो का राज हो गया।।




sahi kaam karnaa gunaah ho gayaa।।

galat kaam karne vaalo kaa raaj ho gayaa।।

paisaa boltaa hai,paisaa toltaa hai।।

jo naa range uske rang men,use jamin men gdnaa hai।।

sachchaai ke raah par chalnaa dusvaar ho gayaa।।

buraai ke raah par chalne vaalo ki jayajaykaar ho gayaa।।

kalayugi raavan ne sansaar men haahaakaar machaa diyaa।।

bhagvaan raam ke prakat hone kaa samay nikat aa gayaa।।

sahi kaam karnaa gunaah ho gayaa।।

galat kaam karne vaalo kaa raaj ho gayaa।।



Written by sushil kumar

Koshish karne walon ki kabhi haar nahin hoti hai

Shayari


कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती।।

थक कर बैठ जाने वालों को कभी जीत नहीं होती।।
हवा के साथ तो मीर कासिम जैसे कायर चलते हैं।।
मजा तो तब है जब आप वीर भगत सिंह बन आँधी के विरुद्ध चलते हैं।।



koshish karne vaalon ki kabhi haar nahin hoti।।

thak kar baith jaane vaalon ko kabhi jit nahin hoti।।

havaa ke saath to mir kaasim jaise kaayar chalte hain।।

majaa to tab hai jab aap vir bhagat sinh ban aandhi ke viruddh chalte hain।।


Written by sushil kumar

Main kisi ka gulam nahin

Shayari

मैं किसी का गुलाम नहीं।।

      मैं आजाद पंक्षी हूँ नीले गगन का।।
मस्त उड़ता हूँ बेफिक्र होकर।।   
             आसमान में बस इधर उधर।।
मुझे तुम जिम्मेदारियों से मत बाँधो।।
      मैं तो बहती हवा सा हूँ जो ठंडक देता है हर दिल को।



main kisi kaa gulaam nahin।।

      main aajaad pankshi hun nile gagan kaa।।

mast udtaa hun bephikr hokar।। 

             aasmaan men bas edhar udhar।।

mujhe tum jimmedaariyon se mat baandho।।

      main to bahti havaa saa hun jo thandak detaa hai har dil ko।


Written by sushil kumar


Badhali

Shayari ऐसी बदहाली आज दिल पे जो छाई है। मन  है बदहवास और आँखों में नमी आई है। हर वक्त बस ईश्वर से यही दुहाई है। खैर रखना उनकी, मेरी ...